पीरियड्स (मासिक धर्म) क्या होता है? किस वजह से योनि से खून का बहाव होता है?

पीरियड्स (मासिक धर्म) क्या होता है? किस वजह से योनि से खून का बहाव होता है?

    Enquiry Form






    आज हम एक ऐसे विषय के बारे में बात करने जा रहे है, जिसके बारे में लड़कियां लड़कों के सामने परामर्श करने से अक्सर संकोच करती हैं| IVF Centre in Punjab में सालों से सेवा निभा रहे Gynaecologists का कहना है कि पीरियड्स के बारे में बात करना एक Normal चीज़ समझनी चाहिए| यह किसी प्रकार कोई बिमारी नहीं है, अपितु यह एक ऐसे प्रक्रिया है जो की स्त्रियों की प्रजनन प्रणाली के एक एहम हिस्सा है| जिन स्त्रियों को पीरियड्स में किसी तरह की समस्या का सामना करना पड़ता है, जैसे की पीरियड्स आने में देरी होना, पीरियड्स के दौरान खून का बहाव अधिक मात्रा में होना, असहनीय दर्द इत्यादि, उन्हें बांझपन की समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है| इसलिए महिलाओं को अपने पीरियड्स के प्रमुख लक्षणों को नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए| यहाँ यह बताना अनिवार्य है कि यदि कोई स्त्री किसी और कारण की वजह से भी बांझपन की समस्या का सामना कर रही है, तो उसे Test tube baby cost के बारे में जानने से हिचकिचाना नहीं चाहिए|

    आइये जानते है पीरियड्स के बारे में:

    पीरियड्स क्या है और यह केवल महिलाओं को ही क्यों आते है?

    • पीरियड्स को मेंसेस या माहवारी भी कहा जाता है| इस बायोलॉजिकल प्रोसेस का जन्म स्त्री शरीर में दस से १५ वर्ष की आयु में में होता है|
    • यह महिलाओं के जीवनकाल में लम्बे समय तक चलती रहती है, जब तक उनका प्रजनन शमता अधिक है| जैसे ही उनकी प्रजनन शमता बिलकुल ही खत्म हो जाती है तो वे मीनोपॉज के चरण में आ जाती है, जब महिला के पीरियड्स बंद हो जाते है|
    • यदि गर्भावस्था (प्रेगनेंसी) नहीं होती है, तो एस्ट्रोजन (Estrogen) और प्रोजेस्टेरोन (Progesterone) का स्तर गिर जाता है, जो अंततः उस स्तर तक पहुंच जाता है जो आपके शरीर को मासिक धर्म शुरू करने के लिए काफी होता है। इस दौरान, गर्भाशय अपनी परत को छोड़ देता है और कुछ रक्त के साथ योनि (VAGINA) के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाता है। गर्भाशय जिसे हम अंग्रेजी में (UTERUS) भी कहते है, केबल महिलाओं में ही पाया जाता है जिस दौरान केवल महिलाएं ही मासिक धर्म का सामना करती है|

    पीरियड्स कितने दिन तक रहते है?

    अलग अलग महिलाओं में पीरियड्स अलग अलग समयकाल के लिए रहते हैं, जैसे कुछ महिलाओं में यह केवल ३ दिन तक रहते है, और कुछ में ४| यदि नार्मल अवधि कि बात की जाये तो यह २ से ७ दिन की होती है|

    पीरियड्स में महिलाओं को कैसा लगता है?

    • कई महिलाओं को पीरियड्स आने से पहले (३ से ४) दिन पहले ही कमर में और पेट के निचले हिस्से में दर्द होनी शुरू हो जाती है, जो की बिलकुल ही नार्मल है| जैसे ही पीरियड्स की शुरुवात होती है, तो महिलाओं को दर्द का सामना करना पड़ता है| दर्द की तीव्रता हर महिला में अलग होती है|
    • पीरियड्स में महिला के होर्मोनेस तेजी से बदल रहे होते है, जिसके कारण स्वभाव में जाहिर परिवर्तन देखने को मिलते है, जिसे (Mood swings) भी कहते है|
    • दिल भी मचल सकता है, और महिला को अच्छा खाने की लालसा भी हो सकती है जिसे (Cravings)कहते है|
    • पीरियड्स के दौरन चक्कर आना, ब्लड प्रेशर लो (LOW) होना काफी सामन्य बातें है|

    यदि आप पीरियड्स के बारे में और जानकारी लेना चाहते है, तो कृपया हमे अपनी Feedback दीजिये| हम आपके लिए ऐसे जानकारी परिपूर्ण blogs लाने के लिए इच्छुक हैं|

    About The Author

    admin

    No Comments

    Leave a Reply