महिलाओं के अंडाशयों में कितने अंडे होते है? बढ़ती उम्र के साथ अण्डों की गुणवत्ता कम क्यों हो जाती है?

महिलाओं के अंडाशयों में कितने अंडे होते है? बढ़ती उम्र के साथ अण्डों की गुणवत्ता कम क्यों हो जाती है?

    Enquiry Form




    जैसे की हम सब जानते है की आज कल अधिकतर जोड़े बच्चा न होने की समस्या से जूझ रहे है| इसके कई कारण हो सकते है| IVF Centre in Punjab के फर्टिलिटी स्पेशलिस्ट के अनुसार, ” दोनों पुरुष और महिला इस समस्या का सामना कर सकते है| यदि हम बात करें केवल महिलाओ में पाई जाने वाली समस्याओं की, तो उनमें अंडा न बनने की समस्या सबसे पहले नंबर पर आती है| यही कारण है की IVF प्रक्रिया के पहले चरण में स्त्री के अंडे बनने पे फोकस किया जाता है| यही कारण है की जिन स्त्रियों में अंडा बनने की समस्या पाई जाती है उन्हें डॉक्टरों द्वारा Test tube baby cost सब कारणों और उपचारों को मद्दे नज़र रखते हुए बताई जाती है|

    किन कारणों की वजह से महिलाओं में स्वस्थ अंडे नहीं बन पाते?

    महिलाओं में स्वस्थ अंडे न बनने के कई कारण हो सकते है, जैसे की निम्नलिखित कारण:

    • हार्मोनल इम्बैलेंस

    सबसे पहले तो हम कारण के बारे में बात करते है, जिससे अधिकतर महिलाएं जूझती है और वो है होर्मोनेस की गड़बड़ी|

    • ओवेरियन सिस्ट्स

    जब एक महिला की ओवरीज़ में कुछ गांठें बनने लग जाती है, तो इसे हम ओवरियन सिस्ट्स कहते है|

    महिला के गर्भाशय में अंडे कैसे बनते है?

    जैसे की हम सब जानते है की गर्भाशय के दोनों तरफ एक एक अंडाशय होता है (मतलब हमारे शरीर में दो अंडाशय होते है)| प्रत्येक अंडाशय में करीबन १० से २० अंडे अंडे होते है| यह अंडे की प्रोडक्शन सिमित होती है और सिमित संख्या को हम ओवेरियन रेसेर्वेस कहते है| आपके पहले और आखिरी पीरियड्स के दौरान लगभग ४०० अंडे काम में आते है|

    क्या आप जानते है?

    • इन अण्डों का साइज १२० माईक्रोनं होता है|
    • जब भी लड़कियों को पीरियड्स आते है, तो लगभग ४ अंडे पकते है|
    • इन सब अण्डों में एक विशेष प्रकार का अंडा होता है जिसे हम डॉमिशन फॉल्कन के नाम से जानते है, यह सबसे प्रभावी और शक्तिशाली किस्म का अंडा माना जाता है| यह अंडा बहुत प्रभावी तरीके से फर्टिलाईज़ेशन प्रक्रिया को पूरा करने में सहयोग देता है|

    महिलाएं किस तरह अपने अपने अण्डों की गुणवत्ता को सुधार सकती है?

    बढ़ती उम्र के साथ महिलाओं के अंडाशयों में पाए जाने वाले अण्डों की गुणवत्ता कम होने लग जाती है| इस गुणवत्ता को सुधारना तब बहुत ही अनिवार्य हो जाता है जब महिला बढ़ती उम्र में भी माँ बनने की इच्छुक है| तो क्या आप जानना चाहते है ऐसे कुछ तरीके जिनकी सहायता से आप अच्छी विशेषताओं वाले अंडो से भ्रूण बनने में सहयोग दे सकते है|

    • सबसे पहले तो माँ बनने की इच्छा रखने वाली महिलाओं को अपने आहार में कुछ अच्छे परिवर्तन लाने होंगे|
    • उसके साथ ही शरीर में पानी की कमी नै होने देनी चाहिए|
    • रोज़ व्यायाम या योग करने से शरीर स्वस्थ अंडे उपजने में सहाय होता है |

    About The Author

    admin

    No Comments

    Leave a Reply