क्या फाइब्रॉइड से ग्रस्त होते हुए भी गर्भधारण किया जा सकता है? यह कितने प्रकार के होते है?

क्या फाइब्रॉइड से ग्रस्त होते हुए भी गर्भधारण किया जा सकता है? यह कितने प्रकार के होते है?

    Enquiry Form




    फाइब्रॉइड की समस्या गर्भधारण करने में विपत्ति आने का प्रमुख कारण है| फाइब्रॉइड एक तरह की नॉनकैंसरस गांठ है, जो की स्त्री के गर्भाशय में पैदा होकर प्राकृतिक तरीके से प्रेग्नेंट होने में समस्या उतपन्न करती है| यदि कभी प्रेगनेंसी में समस्या न आये, तो प्रेगनेंसी के दौरान स्त्री बहुत सरे कॉम्प्लीकेशन्स का सामना कर सकती है| यदि फाइब्रॉइड के कारण आप माँ बनने में असफल रह रहे हैं तो आपको शीघ्र ही Test tube baby cost के बारे में पता कर लेना चाहिए क्योंकि IVF के इलावा आपके पास और कोई भी रिजल्टओरिएंटेड प्रोसीजर का विकल्प नहीं बचता| परन्तु इस बात का विशेष ध्यान रखना की आप एक अच्छे और सम्मानित IVF Centre in Punjab से ही इनफर्टिलिटी ट्रीटमेंट ले रहे हैं| यदि आप Gomti Thapar Hospital से फर्टिलिटी ट्रीटमेंट लेंगे तो आपको कभी निराशा का सामना नहीं करना पड़ेगा|

    जानिये आकार के बारे में

    भारत के प्रसिद्ध गायनोकोलॉजिस्ट के अनुसार, फाइब्रॉइडस का आकार हर स्त्री में अलग अलग होता है| यह साइज छोटे भी हो सकते है (मटर की तरह) और बहुत बड़े भी हो सकते है एक बॉल की तरह| यदि हम सामान्य पैमाने पे बात करें तो यह ज्यादातर छोटे ही होते है| जब फाइब्रॉइडस का आकार बहुत छोटा होता है, तब यह प्रेगनेंसी में किसी तरह की बाधा उतपन्न नहीं कर सकते|

    कब यह चिंताजनक बन जाते है?

    फाइब्रॉइडस केवल तब चिंताजनक रूप धारण करते है जब इनकी एक स्त्री के प्रजनन तंत्र को प्रभावित करने की शक्ति बढ़ जाती है| तो जानते है हम ऐसी कुछ किस्मों के बारे में जो की अलग अलग तरीके से प्रेगनेंसी को प्रभावित करने के लिए जानी जाती है|

    इंट्रामुरल फाइब्रॉइड यह बहुत ही आम प्रकार के इंट्रामुरल फाइब्रॉइड है जिनसे लगभग हर बाँझ स्त्री परेशां हैं| इनकी वजह से गर्भाश्यय में ब्लीडिंग होने लगती है जिस कारन से प्रेग्नेंट होने में समस्या का सामना करना पड़ता है|
    सबम्यूकोसल फाइब्रॉइड इस प्रकार के इंट्रामुरल फाइब्रॉइड गर्भाशय की परतों के नीचे होते है| यह गर्भाशय की लाइनिंग में अवांछनीय परिवर्तन लाकर प्रेगनेंसी की सम्भावना को कम कर देता है|
    सबसेरोसल फाइब्रॉइड इस किस्म के फाइब्रॉइड गर्भाश्यय के बहार पनपते है| ये पेल्विस को बड़ा करके इनफर्टिलिटी जैसी समस्याएं बड़ा देते है|
    सर्वाइकल फाइब्रॉइड हम इसके नाम से पता कर सकते है की सर्वाइकल फाइब्रॉइड गर्दन पर पनपने वाले फाइब्रॉइड है|

    क्या फाइब्रॉइड के बावजूद भी आप गर्भ धारण कर सकती है?

    यह बात बिलकुल ठीक है की फाइब्रॉइड के बावजूद बी आप गर्भ धारण कर सकती है| कुछ फाइब्रॉइड ऐसे होते है जिनको इलाज की जरूरत नै होती, परन्तु कई ऐसे भी होते है जिनको सिरग सर्जरी की सहायता से निकाला जा सकता है| लेकिन जब स्त्री को प्रेगनेंसी के महीने चढ़ने लगते है, तो उसके शरीर में एस्ट्रोजन की मात्रा काफी बाद जाती है, जिस कारण से फ़िब्रोइद्स भी बढ़ने लगते है| इस लिए इनको सही समय पर बढ़ने से रोकना बहुत जरूरी है|

    जानिए इलाज के बारे में

    यदि आपको गर्भधारण करने से पहले पता लगता है की आप सबमूकोसल फाइब्रॉइड से ग्रस्त है तो आपको लप्रोस्कोपिक प्रोसीजर की सहायता से इसे निकाल देना चाहिए| यदि आपको प्रेगनेंसी के बाद पता लगता है की आपको फाइब्रॉइड परेशान कर रहे है, उस स्तिथि में आपको डॉक्टर कुछ समय इंतज़ार करने के लिए कहेंगे और दवाइयों की मदद से इसे खत्म करने की जोशीश की जाएगी|

    यदि आप भी गर्भधारण न कर सकने की समस्या से परेशां है, तो उस ही वक़्त किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करना अनिवार्य है|

    About The Author

    admin

    No Comments

    Leave a Reply